Thursday, 10 March 2016

मतलब की दुनिया - Matlab Ki Duniya

मतलब की दुनिया


ऊपर प्यार जताने वाले
पीछे आग लगाने वाले
बच के रहना उन लोगों से
बहुत हैं दिल जलाने वाले

अक्सर दर्द वही देते हैं
खुद को हमदर्द बताने वाले
आँख खोल पहचान ले उनको
कौन है तुझे सताने वाले



कुछ भी करले नहीं रुकेंगे
चले ही जाते हैं जाने वाले
फ़ना हो गए जो कहते थे
मिट गए हमें मिटाने वाले

जाने किस कोने में छुप गए
जो इंकलाब थे लाने वाले
नाहक ही तूफ़ान से डरते
किनारों पे नाव चलाने वाले


अपने जख्म छुपाके रखना
बिखरे पड़े हैं नमक लगाने वाले
हंसते हैं औरों का दर्द देखकर
बहुत बेदर्द है जमाने वाले

नादानियां भी कर बैठते हैं
समझदार कहलाने वाले
सोच समझ के करना फैसला
इस्तेमाल ना करले बरगलाने वाले

पी जाते हैं हजारों ग़म
महफ़िलों में मुस्कुराने वाले
कमाल का हुनर रखते है
हंसी में दर्द छुपाने वाले

खोजते रहो मतलबी दुनिया में
कहां मिलते हैं लोग पुराने वाले
अपने पराये की परख रखना
खंजर रखते हैं गले लगाने वाले

भरे पड़े हैं इस दुनिया में
हवाई किले बनाने वाले
कभी सफल भी हो जाते हैं
अँधेरे में तीर चलाने वाले



मुश्किलों में सर पकड़ के रोते
ज्यादा अकड़ दिखाने वाले
चैन की नींद वही सोते जो हैं
प्यार से रिश्ते निभाने वाले

मिटटी डालो उन सब पर "शिव"
जो किस्से हैं भुलाने वाले
जी भर जी लो क्योंकि ये पल
लौट के फिर ना आने वाले

Click here to read "कलियुगी रावण" written by Sri Shiv Sharma


***शिव शर्मा की कलम से***









Note : We do not own the Images and Video published in this blog, it belongs to its rightful owners.  If objection arises, the same will be removed.


4 comments: