Thursday, 3 December 2015

सुहानी सर्दी - Suhani Sardi, Winter Season India how to take precaution to stay fit



सुहानी सर्दी - Suhani Sardi


Winter Season India how to take precaution to stay fit, Sardi ke mausam me kaise rakhe khud ko fit.

दिसम्बर का महीना शुरू हो गया । सर्दी अपनी दस्तक दे चुकी है । इस मौसम में स्वास्थ्य की हिम्मत भी अक्सर जवाब दे जाती है । थोड़ी सी लापरवाही, और कई दफा पूरा ध्यान रखने के बावजूद भी, हम शिकार हो जाते हैं बहती हुई नाक, खांसी, छींकें, कई तरह के संक्रमण इत्यादि, और ना जाने कितने इस प्रकार के शिकारियों के ।

कुछ समस्याएं भले ही हो लेकिन सर्दी का मौसम बहुत से लोगों को पसंद होता है । खासकर खाने के शौकीनों को । कहते हैं सर्दी के मौसम में पाचन शक्ति बढ़ जाती है । सो भोजन प्रेमी इस मौसम का खूब लुत्फ़ उठाते हैं । गरमा गर्म परोठे, दाल के पकौड़े और अदरक इलायची वाली चाय की दावतें उड़ाते ही रहते हैं ।

सर्दी का मौसम खाने पिने का सबसे बढ़िया मौसम होता है, इसलिए इस मौसम का आप भी फायदा उठायें, और अपना खानपान कुछ ऐसा सुनिश्चित करें कि सर्दी नामक ये तोप आपका कुछ ना बिगाड़ पाये।

सबसे पहले अपने खाने के मेनू में वो चीजें शामिल करें जो शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में सहायता करे । इसके लिए प्रोटीन, विटामिन से भरपूर फलों का प्रयोग करें । हर जगह आसानी से उपलब्ध गाजर, सेब, संतरे इत्यादि अपने रोज के भोजन में शामिल करें और नियमित रूप से खाएं ।

सर्दियों में प्यास कम ही लगती है, लेकिन आप जानते हैं कि मानव शरीर को पानी की आवश्यकता बहुत ज्यादा होती है, इसलिए कम से कम 2 लिटर पानी किसी भी रूप में जरूर पियें, इस जरुरत को आप गर्म सूप या जूस एवं रसदार फलों के माध्यम से भी पूरा कर सकते हैं ।


अस्थमा यानि दमे के रोगी इस मौसम में अपना विशेष ख्याल रखें । क्योंकि इस मौसम में सांस से सम्बंधित परेशानियां अक्सर स्वस्थ व्यक्तियों को भी सताती रहती है, ऐसे में अगर किसी को अस्थमा है तो दिक्कतें बढ़ सकती है । इस रोग से ग्रस्त व्यक्ति को चाहिए की वो सर्दियों में अपने चेहरे को ढक के रखे । विशेषतया अगर घर से बाहर जा रहे हों तो । धुंए के संपर्क में आने से बचें ।

ठण्ड से बचने के लिए गर्म कपड़े तो आपने निकल ही लिए होंगे, उनका सम्पूर्ण उपयोग करें । ध्यान रहे, सर्दियों में शरीर का तपमान बढ़ाने हेतु हमारा ह्रदय बहुत मेहनत करता है । और तापमान कम हो तो रक्तचाप भी बढ़ जाता है, अतः अपने ह्रदय की सहायता के लिए अपने शरीर को गर्म रखें । अच्छा पौष्टिक खाना खाएं और कुछ व्यायाम वगैरह भी करलें तो बेचारे दिल का भला हो जायेगा । आखिर वो भी आपका अपना ही है ।

सर्दियो में एक और आम समस्या है फ़्लू । इसके जीवाणु ठण्ड के मौसम में ज्यादा सक्रीय हो जाते हैं और जिनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होती है उनको ये जीवाणु जकड लेते हैं । इसलिए हर हाल में सेहतमंद भोजन के अलावा अपने आप को ठण्ड से बचा कर रखें और शरीर को गर्म रखें।

ऐसा ना सोचें की सारा खाया पीया आसानी से पच रहा है तो खाते ही रहें । जी नहीं, संतुलित खाना ही खाएं और पौष्टिक तत्वों से भरपूर । क्योंकि ये भी तो सच है की ज्यादा खाएंगे तो मोटापा भी बढ़ेगा ।

इसके अलावा सुकून और शांति भरी नींद लें । कम से कम आठ घंटे की नींद हो तो कहना ही क्या । अगर पूरी नींद ली जाए तो वो भी रोग प्रतिरोधक शक्ति बढ़ाने में काफी मदद करती है । और एक बात, नहाने के लिए गर्म पानी बहुत ज्यादा गर्म नहीं हो इसका भी ध्यान रखें ।

अब चलते चलते एक मजाकिया लेकिन काम की बात, "हाथ मिलाने की बजाय नमस्ते का प्रयोग ज्यादा करें, क्या पता सामने वाले ने नाक साफ़ करके हाथ धोये भी हैं या नहीं ।" इससे संक्रमण की सम्भावना से भी बचा जा सकता है ।

अब ये कहते हुए आपसे विदा लूंगा कि अपना ख्याल रखे । मुसीबत भरी नहीं, सेहत भरी सर्दियों का आनंद उठायें ।

Click here to read a very interesting blog "धारावाहिक का अंत - TV Serial Ending" by Sri Shiv Sharma


जय हिन्द

... शिव शर्मा की कलम से ...








आपको मेरी ये रचना कैसी लगी दोस्तों । मैं आपको भी आमंत्रित करता हुं कि अगर आपके पास भी कोई आपकी अपनी स्वरचित कहानी, कविता, ग़ज़ल या निजी अनुभवों पर आधारित रचनायें हो तो हमें भेजें । हम उसे हमारे इस पेज पर सहर्ष प्रकाशित करेंगे ।.  Email : onlineprds@gmail.com

धन्यवाद
Note : Images and videos published in this Blog is not owned by us.  We do not hold the copyright.



2 comments: